ईरान के तेहरान में फिर छाया करनाल का छोरा: चीनी ताइपे को हराकर भारतीय टीम ने कियासेमीफाइनल क्वालीफाई, 2010 बाद टीम ने किया क्वालीफाई

24
Quiz banner
Advertisement

 

हरियाणा के करनाल जिले के पंचगांव गांव पोपड़ा का छोरा शेखर टूरन ईरान में छाया हुआ है। अंडर-18 वॉलीबॉल की भारतीय टीम में कुछ दिन पहले उसका चयन हुआ था और अब भारत की टीम ईरान (तेहरान) में आयोजित एशियन वॉलीबॉल चैम्पियनशिप खेल रही है। शनिवार भारत की टीम का क्वार्टर फाइनल मैच चीनी ताइपे के साथ था। भारत की टीम ने चीनी ताइपे की टीम को हरा कर सेमीफाइनल में जगह बना ली।

खेल निदेशालय ने नेशनल ट्रायल को लेकर किए निर्देश जारी: अब दोबारा ट्रायल देने के लिए विभाग से लेनी होगी प्रमिशन, नहीं तो रहना पड़ेगा विभाग के लाभो से वंचित

16 अगस्त को दी थी थाईलैंड की टीम को मात

जानकारी के अनुसार 16 अगस्त को भारत की टीम ने रोचक मुकाबले के साथ थाईलैंड को मात दी थी उसके बाद 18 अगस्त को कोरिया के साथ मुकाबला में भी एक तरफा जीत भारत की टीम ने हासिल की। वहीं शनिवार शाम को हुए चीनी ताइपे की टीम के साथ कांटे की टक्कर रही। अब जापान और ईरान में से जो भी टीम सेमीफाइनल क्वालीफाई करेंगी उसके साथ भारतीय टीम का मुकाबला 22 अगस्त को होगा।

मैच जीतने के बाद भारतीय टीम।

मैच जीतने के बाद भारतीय टीम।

2003 में जीता जीता था भारत ने अंडर 18 में वॉलीबॉल का खिताब

बातदे इससे पहले भारत ने 2003 में एशियाई अंडर 18 लड़कों की वॉलीबॉल चैम्पियनशिप का खिताब जीता था। उसके बाद भारतीय टीम 2005,2008 में कांस्य पदक जीतने के अलावा 2007 में उपविजेता रही थी। अब 2010 के बाद पहली बार भारत की टीम ने चीनी ताइपे को हराकर सेमीफाइनल में क्वालीफाई किया है। भारतीय टीम के इस जीत से 2023 में अंडर 19 वॉलीबॉल विश्व चैम्पियनशिप के लिए क्वालीफाई करने में मदद मिलेगी।

पोको इंडिया के हिमांशु टंडन ने बताया कि 15,000 रुपये से कम में एक अच्छा 5जी स्मार्टफोन क्यों मिलना मुश्किल है?

प्राइमरी कक्षा से वॉलीबॉल का अभ्यास शुरू किया

गांव पोपड़ा वासी किसान पिता रामफल टूरन ने बताया कि परिवार खेती-किसानी पर निर्भर है और खेलों की अधिक जानकारी भी नहीं है। शेखर जब चोरकारसा के स्कूल में प्राथमिक शिक्षा ग्रहण कर रहा था तो प्रशिक्षक प्रवीण के नेतृत्व में चांद कौर अकादमी में वॉलीबॉल खेलना शुरू किया था। 17 वर्षीय शेखर की फुर्ती और ऊंचे कद के कारण उनकी वॉलीबॉल में पहचान बनी और बेहतर प्रदर्शन के चलते भारतीय खेल प्राधिकरण कुरुक्षेत्र में शेखर का चयन कर लिया गया। फिलहाल शेखर कक्षा 12वीं का विद्यार्थी है और कुरुक्षेत्र में ही पढ़ाई के साथ-साथ वॉलीबॉल का अभ्यास करते हैं।

कोच राहुल सांगवान के साथ शेखर टूरन।

कोच राहुल सांगवान के साथ शेखर टूरन।

सीनियर वॉलीबॉल टीम में खेलने का लक्ष्य

दो भाई और बहन में वॉलीबॉल खिलाड़ी शेखर छोटा है और माता माफी गृहणी हैं। शेखर के मामा अरविंद्र मेहला ने बताया कि शेखर का लक्ष्य देश की सीनियर वॉलीबॉल टीम में खेलकर मेडल जीतने का है। भारतीय टीम के 20 खिलाड़ियों में चयनित शेखर के चयन से गांव में खुशी का माहौल है और सभी को शेखर से बेहतर खेल की उम्मीद है। वॉलीबॉल में बेहतर प्रदर्शन के कारण ही उन्हें भारत की अंडर-18 टीम के लिए चयन किया गया है। वहीं, शेखर टूरन के बताया कि शनिवार को भारतीय टीम ने चीनी ताइपे से मुकाबला जीत कर सेमीफाइनल में क्वालीफाई कर लिया है और 22 अगस्त को टीम जीत का लक्ष्य लेकर मैदान में उतरेगी। कोच राहुल सांगवान के नेतृत्व में चैंपियनशिप के दौरान जीत को चूमकर 28-29 अगस्त को खिलाड़ी वापसी करेंगे।

 

खबरें और भी हैं…

.पानीपत में 13 वर्षीय किशोरी का अपहरण: कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर ले गया पड़ोसी; चार घंटे बाद मां ने तलाशी

.

Advertisement