आपकी बेटी-हमारी बेटी योजना के तहत अनुसूचित जाति व बीपीएल परिवार को दी जाती हैं आर्थिक मदद: उपायुक्त डा० मनोज कुमार

99
Advertisement
एस• के• मित्तल
जींद,   उपायुक्त डा० मनोज कुमार  ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा आपकी बेटी-हमारी बेटी योजना चलाई गई है, जो कि बहुत ही महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना का उद्देश्य राज्य में कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगाना, लिंगानुपात में सुधार तथा बालिकाओं को शिक्षा के उचित अवसर प्रदान करना है। अनुसूचित जाति व बीपीएल परिवार में बेटी पैदा होने पर आर्थिक मदद दी जाती है। उपायुक्त डा० मनोज कुमार ने बताया कि इस योजना के तहत ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में 22 जनवरी 2015 को या उसके बाद जन्मी अनुसूचित जाति तथा बीपीएल परिवारों की पहली बेटी के जन्म पर 21 हजार रुपये तथा सभी वर्गों की दूसरी व तीसरी बेटी के जन्म पर 21 हजार रुपये की राशि दी जाती है। इस योजना में लाभार्थी लडक़ी के खाते में कुल संचित राशि उसके 18 वर्ष पूर्ण होने पर ब्याज सहित देय होगी, बशर्ते की लाभार्थी लडक़ी अविवाहित हो। योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को सरल पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन के लिए लाभार्थी लडक़ी के जन्म प्रमाण पत्र की सत्यापित प्रति, टीकाकरण कार्ड, आधार नम्बर (लडक़ी अथवा माता या पिता) आदि दस्तावेजों को संबंधित आंगनवाड़ी केंद्र या स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारी से वैरीफाई करवाना आवश्यक है।
यह भी देखें:-

गौसेवा आयोग के चेयरमैन श्री श्रवण कुमार गर्ग के अनाज मंडी स्थित कैंप आफिस में हुआ कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी जन आशीर्वाद यात्रा का भव्य स्वागत… अग्र बंधुओं ने परिवार सहित की देवी लक्ष्मी की आरती एवं पुजा… देखिए लाइव…

गौसेवा आयोग के चेयरमैन श्री श्रवण कुमार गर्ग के अनाज मंडी स्थित कैंप आफिस में हुआ कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी जन आशीर्वाद यात्रा का भव्य स्वागत… अग्र बंधुओं ने परिवार सहित की देवी लक्ष्मी की आरती एवं पुजा… देखिए लाइव…

उपायुक्त डा० मनोज कुमार ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा जहां प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, आपकी बेटी हमारी-बेटी योजना जैसी योजनाओं का लाभ सरलता से पहुंचाया जाता है वहीं बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान के तहत बेटी के जन्म पर कूआं पूजन, गोद भराई आदि कार्यक्रमों के माध्यम से प्रेरित किया जाता है। इसके अलावा बेस्ट मदर अवार्ड तथा महिला खेलकूद आदि प्रतियोगिताओं के माध्यम से भी आमजन को बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।
YouTube पर यह भी देखें:-

Advertisement